महिलाओं को मिले 50% आरक्षण”राजनीतिक दल महिलाओं को कर रहे नजरअंदाज”शबनम कुरैशी*


राजनीतिक दलों में पैसे लेकर टिकट बेचदने का चलन बंद होना चाहिए। व्यापारी चुनाव लड़ेंगे तो जन नेता कहां जाएंगे।

खबर समाचार दर्शन

सहारनपुर: राजनीतिक दल महिलाओं के बारे में केवल बड़ी-बड़ी बातें करते हैं जमीनी स्तर पर इसके परिणाम सबके सामने हैं। सहारनपुर से लोकसभा का चुनाव लड़ रही निर्दलीय प्रत्याशी शबनम कुरेशी का कहना है महिलाओं को हर क्षेत्र में 50%का आरक्षण दिया जाना चाहिए। महिला आरक्षण न कवेल अब-तक वादे तक सीमित है बल्कि महिलाओं के प्रति संकीर्ण पुरुष मानसिकता को दर्शाता है। शबनम ने कहा अगर जनता ने उन्हें जिता कर संसद में भेजा तो वह महिलाओं को बराबर का दर्जा दिये जाने की लड़ाई मजबूती के साथ लड़ेंगीं। चुनाव लड़ने के के सवाल पर शबनम कुरेशी ने कहा कि आज़ादी के बाद से अब तक सहारनपुर लोकसभा से कोई महिला सांसद नहीं चुनी गई न ही यहां से किसी राजनीतिक दल ने महीला को टिकट दिया। बातचीत के दौरान उन्होंने बसपा सुप्रीमो मायावती और गठबंधन प्रत्याशी हाजी फजलुर्रहमान पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि मायावती जो खुद एक महिला है उन्होंने कभी नहीं चाहा कोई महिला आगे बढ़े उन्होंने सवाल किया क्या किसी महिला को आज तक मायावती ने अपनी पार्टी से टिकट दिया”इन्हें तो जो पैसे देता है टिकट उसी को मिलता है।

शबनम ने कहा बड़ी रकम में बिकने वाले टिकट कोई व्यापारी ही खरीद सकता है आम आदमी नहीं।कुरैशी ने कहा राजनीतिक दलों में टिकट बेचने का चलन बंद होना चाहिए।‌ आप अपना मुकाबला किससे मानती है इस सवाल पर उन्होंने कहा मेरा मुकाबला व्यापारी से नेता बनने की महत्वाकांक्षा रखने वाले गठबंधन प्रत्याशी से है मैं महिला होकर भी उन्हें हराने का दम रखती हूं। उन्होंने बताया मेरा घर गठबंधन प्रत्याशी के घर के निकट ही है हमने देखा है वह गरीबों की मदद के नाम पर ढोंग करते हैं। लोगों में चर्चा है इनके द्वारा करोड़ों देकर टिकट खरीदा गया अब दिखावे की मदद को जता कर लोगों से वोट मांगने का काम कर रहे हैं। हालांकि मदद के नाम दिखावा करके जो पैसा कुछ गरीबों में बांटा जाता है वह इनके पास भी ज़कात के नाम पर मुस्लिम देशों से आता है जिस पर पहले से ही गरीबों का हक़ है।

*रिपोर्ट: इरशाद खान/जावेद अंसारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *